एंटी डिमेंशिया दवाईयाँ क्या है?

ये दवाईयाँ डिमेंशिया के कुछ प्रकारों के ईलाज में मददकारक होती हैं

इन दवाइयों से कितना लाभ होता है? क्या इससे मेरे पिताजी का डिमेंशिया ठीक हो जाएगा? 
दुर्भाग्यवश, नहीं ये दवाईयाँ डिमेंशिया ठीक नहीं करती 

डिमेंशिया को प्रोग्रेसिव न्युरोलोजिकल कंडीशन बोलते है। मतलब ये बीमारी समय के साथ धीरे-धीरे बढती जाती है
फिर मरीज को इतनी मँहगी दवाइयाँ खिलाने का क्या अर्थ है जब ये बीमारी ठीक नहीं हो सकती

ये बीमारी के बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करती है, मरीज की जिन्दगी को बेहतर बनाती है, मरीज की उम्र को बढ़ाती है और मरीज की स्वाभाविक दिक्कतें जैसे घूमने की प्रवृति, गुस्सा आदि को कम करती है

ये दवाईयाँ भले ही बीमारी को ठीक नहीं कर सकती, इन दवाईयों से बहोत कुछ पाया जा सकता है। 


क्या इन दवाईयों के दुष्प्रभाव है?

हाँ, अन्य सभी दवाईयों की तरह इन दवाईयों के भी दुष्प्रभाव होते हैं। उनकी एक बड़ी सूचि है और ये दुष्प्रभाव सभी लोगों को नहीं होता इसलिए हम वो सभी यहाँ नहीं दे रहें हैं।  

आपके डॉक्टर सबसे महत्त्वपूर्ण दुष्प्रभाव के बारे में आपको अच्छी तरह बता पाएंगे और आपके दवाईयोंके बक्से में जो पत्रक रहेगा उसमें सभी दुष्प्रभावों की सूचि दियी रहेगी। 

ये बात ध्यान में रखो, सामान्यतः होनेवाले बहोत से दुष्प्रभाव कुछ समय के लिए होते हैं। अगर पहले कुछ समय के लिए आप उन्हें सह लेते है तो बाद में वे नष्ट हो जाते हैं। 


क्या हमें इन दवाईयों के बारे में कुछ और जानकारी होनी चाहिए?

हाँ, दो बातें 

. ये बीमारी याददास्त से जुडी है इसलिए किसी अन्य व्यक्ति को ये सुनिश्चित करना चाहिए की मरीज सही तरह दवाइयाँ ले रहा है

स्मृति के आलावा होनेवाली अन्य समस्याओं में मदद के तौर पर और भी कई दवाईयाँ, उदाहरनार्थ - एंटी डिप्रेसेंट्स, एंटी सायकोटिक, एंटी एन्क्झायटी इत्यादि, डिमेंशिया के ईलाज के लिए उपयोग में लायी जाती हैं।

इस सम्बन्ध में आपके डॉक्टर से चर्चा कीजिये।