ये तो सभी जानते है कि आत्महत्या का विचार डीप्रेसन (अवसाद) के कारण आता है, इस सम्बन्ध में और क्या नई जानकारियाँ है?

Ø  डिप्रेसन के अलाबा आत्महत्या का विचार कई कारणों से आ सकता है.


# ठीक है, आत्महत्या के बारे में मुझे कुछ नयी बात बताइए ?

Ø  जिस व्यक्ति को आत्महत्या के विचार आते हैं, वो इस बारे में अक्सर बात करना चाहते हैं. क्योंकि सभी व्यक्ति जिनको ये विचार आते हैं वो मरना नहीं चाहते हैं. यदि उन्हें सही मदद दी जाती है तो वे इसे स्वीकार भी करते हैं.


#  यदि वे मरना नहीं चाहते तो फिर उनको आत्महत्या के विचार क्यों आते हैं?

Ø  ऐसा नहीं है, ऐसे लोगों के मन में आत्महत्या के विचार इसलिए आते हैं क्योंकि उन्हें अपनी समस्याओं का कोई हल नजर नहीं आता और जान देना ही एक रास्ता दिखता है. यदि हम उन्हें एक उम्मीद दे सकते हैं; यदि उन्हें एक दूसरा रास्ता दिखा सकते हैं; यदि हम उन्हें बता सकते हैं की हम उनकी समस्या समझते हैं ....आदि तो उनके आत्महत्या के ख्याल में परिवर्तन आ सकता है.


#  क्या वाकई सिर्फ बातचीत करने से आत्महत्या के विचार खत्म हो जाते हैं?

Ø  जब आदमी आत्महत्या के बारे में सोच रहा होता है उस समय यदि कोई व्यक्ति इस बारे में उनसे बातें करता है तो इन विचारों पर अमल करने की इच्छा में कमी आती है.

ऐसे बहुत सारे हेल्पलाइन है जहाँ लोग इस बारे में बातचीत कर सकते हैं और विशेषज्ञ की सलाह ले सकते हैं.

नीचे हम कुछ संस्थाओं का नंबर दे रहे हैं जो आत्महत्या का विचार रखनेवाले लोगों की मदद करते है

 (हेल्पलाइन) :

साथ (अहमदाबाद) : फोन 26305544  ( एक से सात बजे शाम में उपलब्ध)

सहाय (बेंगलुरु) : फोन 25497777

बातचीत चिकित्सा (सेंट स्टीफेन और इमेनुएल हॉस्पिटल द्वारा संचालित) :

1860-266-2345 (संपूर्ण भारत 24 घंटे सेवा)

  सुमेत्री
नई दिल्ली  011-23389090


समारीटन्स
मुंबई  022-32473267


आसरा
नवी मुंबई 022-27546669


लाइफ लाइन्स  
कोलकोता 033-24637401, 033-24637432


स्नेहा
चेन्नई  044-24640050


साथ
अहमदाबाद  079-26305544


रौशनी
सिकंदराबाद 040-66202000


मैत्री
कोच्ची  0484-2540530


मैत्रेयी
पुदुचेर्री  0413-2339999

थानल
कोजीकोड  0495-2725555


जीवन
जमशेदपुर 0657-3453851


मैत्री
त्रिशुर 0487-3208558


प्रतीक्षा  
नॉर्थ पारावुर 0484-2448830

सी.आई.पी.

राँची 18003451849 (24 घंटे फ्री हेल्पलाइन)